पृथ्वी दिवस विशेष: मत करो धरती पर तुम सब अत्याचार, क्योंकि यही तो है हमारी सांसों का आधार

The News Warrior

THE NEWS WARRIOR
22 /04 /2022

1970 में अर्थ डे को मनाने की हुई थी शुरुआत 

पर्यावरण की शिक्षा के तौर परअमेरिकी सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन ने की थी इस दिन की, शुरुआत

1969 में कैलिफोर्निया के सांता बारबरा में तेल रिसाव की वजह से  हुई थी त्रासदी 

हादसे में कई लोगो के आहत होने पर पर्यावरण संरक्षण की दिशा में काम करने का किया फैसला 

पृथ्वी दिवस विशेष:- 

पृथ्वी सभी जीवों के लिए जीवनदायिनी है। जीवन जीने के लिए जिन प्राकृतिक संसाधनों की जरूरत एक पेड़, एक जानवर या फिर एक इंसान को होती है, पृथ्वी वह सब हमें प्रदान करती है। हालांकि वक्त के साथ सभी जरूरी प्राकृतिक संसाधनों का दोहन इस कदर हो रहा है कि समय से पहले की सभी संसाधन खत्म हो सकते हैं। ऐसे में मनुष्य के लिए पृथ्वी पर जीवित रहना मुश्किल हो जाएगा। इसी मुश्किल को हल करने के लिए प्रकृति प्रदत्त चीजों का संरक्षण करने की आवश्यकता है। इस आवश्यकता के बारे में सभी को जागरूक करने के उद्देश्य से हर साल 22 अप्रैल को ‘पृथ्वी दिवस’ मनाया जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि पृथ्वी दिवस को मनाने की शुरुआत किसने की और कब व क्यों की? हम जिस ग्रह पर रहते हैं उसे अर्थ नाम किसने और क्यों दिया? विश्व पृथ्वी दिवस के मौके पर इस दिन के इतिहास, महत्व और जरूरी बातों के बारे में जानिए।

पृथ्वी दिवस मनाने की शुरुआत

अर्थ डे को मनाने की शुरुआत 1970 में हुई थी। सबसे पहले अमेरिकी सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन ने पर्यावरण की शिक्षा के तौर पर इस दिन की शुरुआत की थी। एक साल पहले 1969 में कैलिफोर्निया के सांता बारबरा में तेल रिसाव की वजह से त्रासदी हो गई थी। इस हादसे में कई लोग आहत हुए और पर्यावरण संरक्षण की दिशा में काम करने का फैसला किया। इसके बाद नेल्सन के आह्वान पर 22 अप्रैल को लगभग दो करोड़ अमेरिकियों ने पृथ्वी दिवस के पहले आयोजन में हिस्सा लिया था।

पृथ्वी दिवस2022  की थीम

साल 1970 से हर साल पृथ्वी दिवस मनाया जाने लगा। हर साल पृथ्वी दिवस के लिए एक खास थीम रखी जाती है। पृथ्वी दिवस 2020 की थीम जलवायु कार्रवाई थी। पृथ्वी दिवस 2022 की थीम ‘इन्वेस्ट इन अवर प्लानेट (Invest in Our Planet) है।
पृथ्वी दिवस या अर्थ डे शब्द को सबसे पहले जूलियन कोनिग दुनिया के सामने लाए थे। उनका जन्मदिन 22 अप्रैल को होता था। इसलिए पर्यावरण संरक्षण से जुड़े आंदोलन की शुरुआत 22 अप्रैल को अपने जन्मदिन के दिन करते हुए उन्हें इसे अर्थ डे नाम दिया। उनका मानना था कि अर्थ डे और बर्थडे एक अच्छा ताल मिलाता है।

 विश्व पृथ्वी दिवस मनाने का उद्देश्य 

पृथ्वी दिवस के बारे में तो आप सभी ने सुना ही होगा जिसका उद्देश्य है, पृथ्वी और पर्यावरण को बचाना. अक्सर हम सभी कहते हैं कि ये धरती हमारी माँ है. लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि हम अपनी ही माँ का ध्यान नहीं रख रहे हैं. ध्यान तो छोड़िए, हम तो इसे अपवित्र ही कर रहे हैं, कभी प्रदूषण के माध्यम से, कभी इसके साथ छेड़छाड़ करके. पृथ्वी के महत्व को समझते हुए और इसके संरक्षण के लिए पूरे विश्व के लोगों ने एक दिन का चुनाव किया जिसे अब विश्व पृथ्वी दिवस के नाम से जाना जाता है. 22 अप्रैल को पूरे विश्व में विश्व पृथ्वी दिवस मनाया जाता है.

 

 

 

 

 

 

यह भी पढ़े:-

पांवटा साहिब: दो गुटों में खूनी संघर्ष, लाठी-डंडों से एक दूसरे को किया लहूलुहान

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

हिमाचल प्रदेश: राशन डिपो में महंगा हुआ सरसों का तेल, जानिए क्या है नए रेट

THE NEWS WARRIOR 22 /04 /2022 राशन डिपो में सरसों तेल 20 रुपये महंगा राशन डिपुओं में नए दाम से सरसों तेल और साबुत उड़द  की आपूर्ति शुरू 11 लाख एपीएल परिवारों को पांच रुपये महंगा 151 रुपये के स्थान पर 156 रुपये प्रति लीटर की दर से मिलेगा आयकरदाताओं […]

You May Like


©2022. All rights reserved . Maintained By: H.T.Logics Pvt Ltd