हिमाचल के शाहपुर की ITI में खुलेगा पहला ड्रोन प्रशिक्षण का फ्लाईंग स्कूल

The News Warrior
THE NEWS WARRIOR
06 /03 /2022

ड्रोन प्रशिक्षण के लिए पहला फ्लाईंग स्कूल कांगड़ा जिला केशाहपुर में स्थापित किया जाएगा

केंद्रीय नागरिक विमानन मंत्रालयऔर इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी के मध्य समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर 

राज्य के युवाओं के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाएगा

मुख्यमंत्री ने वर्ष 2022-23 के बजट संबोधन में राज्य में चार ड्रोन फ्लाईंग स्कूल स्थापित करने की घोषणा की

कांगड़ा:-

डॉ. रजनीश ने आज यहां बताया कि हिमाचल प्रदेश में ड्रोन प्रशिक्षण के लिए पहला फ्लाईंग स्कूल कांगड़ा जिला के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, शाहपुर में स्थापित किया जाएगा।इसके लिए तकनीकी शिक्षा निदेशक विवेक चंदेल और केंद्रीय नागरिक विमानन मंत्रालय की स्वायतशासी संस्था इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी के मध्य एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

कर्मचारियों के साथ ही आम लोगों का भी ड्रोन मार्ग-निर्देशन करेगा

यह संस्थान सरकारी कर्मचारियों के साथ ही आम लोगों का भी ड्रोन के उपयोग के बारे में मार्ग-निर्देशन करेगा और राज्य के युवाओं के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाएगा।

वर्ष 2022-23 के बजट में राज्यो में चार ड्रोन फ्लाईंग स्कूल स्थापित करने की घोषणा

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने वर्ष 2022-23 के बजट संबोधन में राज्य में चार ड्रोन फ्लाईंग स्कूल स्थापित करने की घोषणा की है। प्रदेश में ड्रोन सुविधा का उपयोग दवाईयों की आपूर्ति, कृषि, वानिकी, राहत एवं बचाव, निगरानी, यातायात व मौसम संबंधी निगरानी, अग्निशमन, व्यक्तिगत उपयोग, ड्रोन आधारित फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी में किया जा सकेगा। यह प्रदेश में संसक्त, स्वचालित और तीव्र सम्भार तंत्र (लॉजिस्टिक्स) की सुविधा भी प्रदान करेगा।

मल्टी-रोटर प्रशिक्षण 55 हजार रुपये व 18 प्रतिशत जीएसटी की दरों पर प्रदान करने का प्रस्ताव 

तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान शाहपुर में उम्मीदवारों को जमीनी प्रशिक्षण के लिए भूमि और भवन तथा सिम्यूलेटर की स्थापना के लिए एक कमरा उपलब्ध करवाया गया है।उन्होंने कहा कि इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी ने राज्य के 100 सरकारी कर्मचारियों को तीन वर्षों के लिए 15 प्रतिशत विशेष रियायत प्रदान करने और राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों और शैक्षणिक संस्थानों में अध्ययनरत बीपीएल श्रेणी के 100 छात्रों एवं प्रशिक्षुओं को तीन वर्षों के लिए श्रेणी एक, लघु, मल्टी-रोटर प्रशिक्षण 55 हजार रुपये व 18 प्रतिशत जीएसटी की दरों पर प्रदान करने का प्रस्ताव दिया है।

इस अवसर गणमान्य व्यक्ति भी शामिल 

इस अवसर उप-सचिव तकनीकी शिक्षा ललित विक्रम गौतम, अतिरिक्त निदेशक (आईटी) राजीव शर्मा व ड्रोन प्रशिक्षक चिराग शर्मा भी उपस्थित थे।

आगे पढ़े :-

 सोमवार को प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक, जानिए क्या होंगे फैसले …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

सोमवार को होगी प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक,जानिए क्या होंगे है फैसले …

THE NEWS WARRIOR 06 /03 /2022 हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक 7 मार्च को कर्मचारियों की वेतन विसंगति से जुड़े मसलों पर भी चर्चा की संभावना कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा भी होगी वित्तीय वर्ष 2022-23 की आबकारी नीति को भी मंजूरी दी जा सकती है शिमला:- सूबे में हिमाचल प्रदेश […]

You May Like


©2022. All rights reserved . Maintained By: H.T.Logics Pvt Ltd